For the best experience, open
https://m.chhattisgarhtak.in
on your mobile browser.
Advertisement Whatsapp share

साय ने ली सीएम पद की शपथ, मोदी-शाह की मौजूदगी में हुआ भव्य समारोह

01:18 PM Dec 13, 2023 IST | ChhattisgarhTak
Advertisement
साय ने ली सीएम पद की शपथ  मोदी शाह की मौजूदगी में हुआ भव्य समारोह
मनोनीत मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय (साभार- सीएमओ छत्तीसगढ़)

Chhattisgarh CM Oath Ceremony- भाजपा विधायक विष्णु देव साय (Vishnu Deo Sai) बुधवार को रायपुर में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, वरिष्ठ भाजपा नेता और अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे.

Advertisement

राज्य पार्टी प्रमुख अरुण साव ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा, ''चुनाव में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत की तरह साय और मंत्रिपरिषद का शपथ ग्रहण समारोह भी ऐतिहासिक होगा.''

भाजपा ने रविवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और छत्तीसगढ़ भाजपा प्रमुख के रूप में काम कर चुके आदिवासी नेता साय (59) को नए मुख्यमंत्री के रूप में चुना.

Advertisement सब्सक्राइब करें

नई कैबिनेट में कौन-कौन होंगे शामिल?

नई कैबिनेट में किसे शामिल किया जाएगा और क्या राज्य को दो डिप्टी सीएम मिलेंगे, इन अटकलों के बीच साव ने कहा, "शपथ लेने वाले नेताओं की सही संख्या समय पर सभी को पता चल जाएगी."

यहां जानें पूरा कार्यक्रम

-रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में व्यापक तैयारियां की गई हैं, जहां शाम 4 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा.

-समारोह में 50,000 से अधिक लोगों के शामिल होने की उम्मीद है.

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, अन्य राज्यों के वरिष्ठ भाजपा नेता, प्रतिष्ठित हस्तियां और बुद्धिजीवी समारोह में भाग लेंगे.

-राज्य भाजपा इकाई के अनुसार, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा, महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस सहित अन्य लोग भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे.

-भाजपा कार्यकर्ता और आम लोग भी बड़ी संख्या में उपस्थित रहेंगे. कार्यक्रम के लिए विपक्ष (कांग्रेस) सहित राज्य के सभी राजनीतिक दलों को आमंत्रित किया गया है.

कैसी है सुरक्षा?

तैयारियों के बारे में बात करते हुए एक अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था के लिए लगभग 1,000 पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है.

उन्होंने बताया कि रायपुर शहर के चौराहों, बस स्टैंडों, रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों आदि पर सघन जांच की जा रही है.

कार्यक्रम के लिए साइंस कॉलेज मैदान में तीन अलग-अलग मंच बनाये गये हैं.

अधिकारी ने कहा, "मुख्य शपथ ग्रहण समारोह पहले मंच पर होगा. बीच वाला मंच वीआईपी के लिए आरक्षित है, जबकि तीसरा मंच नवनिर्वाचित विधायकों के लिए है."

मंत्रिमंडल पर निगाहें

राज्य के राजनीतिक हलकों में चल रही अटकलों से पता चलता है कि नई मंत्रिपरिषद में नए चेहरों और पुराने लोगों का मिश्रण हो सकता है. नियम के मुताबिक, छत्तीसगढ़ कैबिनेट में मुख्यमंत्री समेत अधिकतम 13 मंत्री हो सकते हैं.

डिप्टी सीएम बनेंगे ये नेता?

अटकलें यह भी हैं कि कैबिनेट में दो डिप्टी सीएम होंगे- एक-एक ओबीसी और सामान्य वर्ग से.

प्रभावशाली साहू (तेली) ओबीसी समुदाय से आने वाले साव को डिप्टी सीएम पद की दौड़ में बताया जा रहा है.

वकील से नेता बने साव विवादों से दूर रहे हैं और उन्हें एक तटस्थ नेता के रूप में देखा जाता है, जो राज्य भाजपा इकाई के किसी भी खेमे से नहीं आते हैं.

उन्होंने हाल के चुनावों में अपने निकटतम कांग्रेस प्रतिद्वंद्वी थानेश्वर साहू के खिलाफ लोरमी विधानसभा सीट 45,891 वोटों से जीती.

डिप्टी सीएम पद के लिए एक अन्य संभावित उम्मीदवार राज्य भाजपा महासचिव विजय शर्मा हैं, जिन्होंने कवर्धा निर्वाचन क्षेत्र में प्रभावशाली कांग्रेस नेता और निवर्तमान मंत्री मोहम्मद अकबर को 39,592 वोटों से हराया.

 

इन चेहरों की भी चर्चा, मिलेगा मंत्री पद?

बृजमोहन अग्रवाल और अमर अग्रवाल (दोनों सामान्य वर्ग से), धरमलाल कौशिक और अजय चंद्राकर (ओबीसी), केदार कश्यप, विक्रम उसेंडी और रामविचार नेताम (अनुसूचित जनजाति), पुन्नूलाल मोहिले और दयालदास बघेल (अनुसूचित जाति) और राजेश मूणत (जैन समुदाय) का नाम साय कैबिनेट में संभावित मंत्री के तौर पर चल रहा है.

इन नेताओं में धरमलाल कौशिक को छोड़कर बाकी सभी नेता राज्य की पिछली भाजपा सरकारों में मंत्री रह चुके हैं.

राजनीतिक गलियारों में संभावित नए चेहरों के रूप में आईएएस अधिकारी से नेता बने ओपी चौधरी, गजेंद्र यादव और भावना बोहरा के नामों की भी चर्चा है.

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को राज्य विधानसभा के अध्यक्ष के रूप में नामित किए जाने की संभावना है.

महिला नेताओं में पूर्व केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह, पूर्व सांसद गोमती साय और पूर्व प्रदेश मंत्री लता उसेंडी का नाम चर्चा में है. तीनों आदिवासी समुदाय से हैं.

इसे भी पढ़ें- साय को मिला था जूदेव का साथ; पंच-सरपंच… अब बन गए सीएम

Advertisement
छत्तीसगढ़ की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए छत्तीसगढ़ Tak पर क्लिक करें.
Tags :
Advertisement
×

.

tlbr_img1 होम tlbr_img2 वीडियो tlbr_img3 शॉर्ट्स tlbr_img4 वेब स्टोरीज