For the best experience, open
https://m.chhattisgarhtak.in
on your mobile browser.
Advertisement Whatsapp share

मोदी को 11 कमल के फूल भेंट करना चाहते हैं CM साय, प्लान में जुटी बीजेपी

07:57 PM Jan 09, 2024 IST | मनीष शरण
Advertisement
मोदी को 11 कमल के फूल भेंट करना चाहते हैं cm साय  प्लान में जुटी बीजेपी
बिलासपुर में एक कार्यक्रम के दौरान सीएम विष्णुदेव साय और अन्य नेता

BJP Chhattisgarh News- छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी (BJP) विधानसभा चुनाव में मिली अपनी शानदार जीत को आगामी लोकसभा चुनाव में भुनाने के लिए एड़ी-चोटी एक करती नजर आ रही है. पार्टी ने साल 2023 के विधानसभा में कई प्रयोग किए और प्रदेश में बीजेपी की जीत के बाद यह पहली बार है जब संभाग स्तर पर कार्यकर्ता सम्मान समारोह का आयोजन किया गया. बीजेपी हर संभाग में अपने कार्यकर्ताओं का सम्मान कर एक बार फिर उन्हें आगामी ‘लोकसभा दंगल’ के लिए चार्ज करने की कवायद में जुट गई है.

Advertisement

बिलासपुर के पुलिस परेड ग्राउंड में सोमवार को भाजपा के सभी दिग्गज प्रदेश में बीजेपी की जीत को लेकर आश्वस्त नजर आए. मुख्यमंत्री विष्णु देव साय, प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, डिप्टी सीएम अरुण साव और विजय शर्मा सहित तमाम बड़े नेता कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनाव के लिए जुटने की अपील करते रहे.

ओपी चौधरी ने किया बड़ा दावा!

भाजपा नेता और पहली बार मंत्री बने ओपी चौधरी ने मीडिया से बात करते हुए दावा किया है कि निकट भविष्य में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करेगी और प्रदेश की जनता मोदी जी का ही साथ देगी. यही कारण है कि छत्तीसगढ़ के सभी 11 लोकसभा सीटों में कमल खिलेगा.

Advertisement सब्सक्राइब करें

योजनाओं को लेकर साय ने क्या कहा?

प्रदेश में सरकार बनने के बाद पहली बार मुख्यमंत्री विष्णु देव साय कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचे. मुख्यमंत्री ने कहा, “छत्तीसगढ़ पीएससी ने पिछले साल हमारे मेहनतकश बेटा बेटियों के साथ खिलवाड़ किया था, इसकी सीबीआई जांच की अनुशंसा हमने कर दी है.” सीएम ने कहा कि जल्द ही महतारी वंदन योजना के अंतर्गत विवाहित महिलाओं के खाते में पैसे डाले जाएंगे.

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर में बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा कि मोदी जी को फिर से पीएम बनाना है. उन्होंने कहा, “मोदी जी ने डबल इंजन की सरकार छत्तीसगढ़ में दी है. हमारा भी दायित्व बनता है कि हम 11 कमल के फूल पीएम को भेंट करें.”

'मोदी को फिर पीएम बनाना है'

साय ने कहा कि प्रभारी ओम माथुर के मार्गदर्शन में छत्तीसगढ़ में जीत दर्ज की गई. ओम माथुर की मेहनत से ही पार्टी को आज 46 फीसदी वोट मिले हैं. पार्टी को किसी एक तबके का नहीं बल्कि सभी तबकों का वोट मिला है.

सीएम साय ने कहा, “अभी सरकार को एक महीने भी पूरे नहीं हुए हैं और हम मोदी जी की गारंटी के बड़े वादों को पूरा कर लिए हैं. राज्य कैबिनेट की प्रथम बैठक में 18 लाख गरीब लोगों को आवास स्वीकृत किया है. 2 साल का बकाया बोनस भी अटल जयंती पर किसानों को दिया. राज्य के 12 लाख से ज्यादा किसानों को 3716 करोड़ से ज्यादा का बोनस उनके खाते में ट्रांसफर किया गया है. इस तरह से मोदी की हर गारंटी पूरी होगी.”

मंच से इन बातों का जिक्र करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने इस बात पर जोर दिया कि अब भी छत्तीसगढ़ और पूरे देश में मोदी मैजिक बरकरार है और यही वजह है कि लोकसभा सीटों में इसका सीधा फायदा भारतीय जनता पार्टी को मिलेगा.

…कुर्सियां फिर भी रहीं खाली!

इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में बिलासपुर संभाग के सभी आठ विधानसभा क्षेत्र से कार्यकर्ता और पदाधिकारी पहुंचे थे. यहां इनका स्वागत-सत्कार किया गया और इन पर फूल छिड़कते हुए इनका सम्मान किया गया. इस बीच ऐसे बड़े पदाधिकारी और नेता भी थे जिनका सम्मान मंच से बड़े नेताओं के हाथों किया गया.

दूसरी ओर इस सम्मेलन में प्रदेश के तमाम बड़े नेता मौजूद थे फिर भी कार्यक्रम स्थल पर बड़ी संख्या में कुर्सियां खाली नजर आईं. इस पर जब हमारे संवाददाता ने बीजेपी के नेताओं से सवाल किया तो उन्होंने बताया कि कार्यक्रम काफी समय पहले से शुरू हो चुका था और जब बड़े नेता मंच पर आए तो ज्यादातर लोगों ने उनके भाषण को सुनने के दौरान बाहर जाना बेहतर समझा क्योंकि बैठे-बैठे वह काफी थक चुके थे. उन्होंने बाहर से भी उनके भाषणों को उतनी ही गंभीरता से सुना है.

मंच पर चल रहा था भाषण, भीड़ गए कार्यकर्ता, हुआ हंगामा

भाजपा के कार्यक्रम में अक्सर यह देखा गया है कि मंच पर जब बड़े नेता भाषण दे रहे हों तब उसे कार्यकर्ता बड़े ही अनुशासित ढंग से सुनते और समझते हैं, लेकिन बिलासपुर संभाग में आयोजित इस कार्यकर्ता सम्मेलन में अचानक ही कार्यकर्ताओं ने अपना संयम खोया और मौके पर मौजूद मीडियाकर्मी से ही भिड़ गए.  मंच से बड़े नेता यहां हो रहे वाद विवाद को देखने लगे. इतने में व्यवस्था संभालने वाले पुलिस प्रशासन के अधिकारी और कुछ कार्यकर्ताओं ने स्थिति को संभाला, तब जाकर मामला शांत हुआ.

इसे भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ कांग्रेस को मिल गया बड़ा मुद्दा! लोकसभा चुनाव से पहले पलटेगी बाजी?

Advertisement
छत्तीसगढ़ की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए छत्तीसगढ़ Tak पर क्लिक करें.
Tags :
Advertisement
×

.

tlbr_img1 होम tlbr_img2 वीडियो tlbr_img3 शॉर्ट्स tlbr_img4 वेब स्टोरीज