For the best experience, open
https://m.chhattisgarhtak.in
on your mobile browser.
Advertisement Whatsapp share

25 करोड़ की चोरी मामले में छत्तीसगढ़ से दो गिरफ्तार; आरोपी की पत्नी ने कर दी ये मांग

05:18 PM Sep 29, 2023 IST | ChhattisgarhTak
Advertisement

Delhi Jewellery Shop Burglary-  इस सप्ताह की शुरुआत में नई दिल्ली में एक आभूषण की दुकान से 25 करोड़ रुपये की चोरी के मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से लगभग 18.5 किलोग्राम सोने और हीरे के गहने बरामद किए हैं. इस बीच मुख्य आरोपी की पत्नी ने अपने पति के संबंध में शुक्रवार को छत्तीसगढ़ TAK से बातचीत की.

Advertisement

छत्तीसगढ़ पुलिस के मुताबिक, एंटी क्राइम, साइबर यूनिट और बिलासपुर जिले के सिविल लाइन पुलिस थाने के अधिकारियों की एक संयुक्त टीम ने बिलासपुर शहर में चोरी की एक श्रृंखला की जांच करते हुए यह अभियान चलाया. गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों की पहचान लोकेश श्रीवास और शिवा चंद्रवंशी के रूप में की गई है, जो बिलासपुर में सात चोरियों में कथित रूप से शामिल है.

श्रीवास के छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले के कवर्धा शहर में मौजूद होने की गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए, टीम ने बुधवार को वहां छापा मारा और चंद्रवंशी को 23 लाख रुपये के आभूषणों के साथ गिरफ्तार कर लिया. उस समय तक श्रीवास भागने में सफल हो गया था.

Advertisement सब्सक्राइब करें

इसके बाद टीम ने श्रीवास को दुर्ग जिले के स्मृतिनगर पुलिस स्टेशन क्षेत्राधिकार के तहत एक घर में खोजा और उसके पास से 18.5 किलोग्राम सोने और हीरे के आभूषण और 12.5 लाख रुपये नकद बरामद किए.

सिविल लाइन बिलासपुर के टीआई प्रदीप आर्य ने बताया, हमारे बिलासपुर के सिविल लाइन में पांच दुकानों में चोरी को अंजाम दिया गया था. उसके एक सप्ताह बाद फिर चोरी की घटना हुई. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कवर्धा के लोकेश श्रीवास का नाम सामने आया.  हमने कवर्धा में रेड की तो वह फरार हो गया था. तकनीकी आधार पर स्मृति नगर में छिपा हुआ मिला. इस दौरान साढ़े 18 किलो सोना और साढ़े 12 लाख रुपये बरामद किया गया. आरोपी ने तेलंगाना, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, दिल्ली सहित कई राज्यों में चोरी की है.”

ऐसे हुआ खुलासा

बिलासपुर पुलिस ने दिल्ली के जंगपुरा और छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में हुई 7 चोरी के मामले में लोकेश श्रीवास और उसके साथी शिवा चंद्रवंशी को पकड़ा है. पुलिस को यह बड़ी सफलता एसपी संतोष सिंह के नेतृत्व में मिली है. दरअसल, बिलासपुर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में सात चोरी की वारदात हुई थी. मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी संतोष सिंह ने एसीसीयू और सिविल लाइन पुलिस को जांच कर आरोपी की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे. पुलिस जांच के दौरान चोरी में शामिल लोकेश के बारे में जानकारी मिली. इस सूचना के बाद बिलासपुर पुलिस, दुर्ग पुलिस और रायपुर पुलिस के सहयोग से दुर्ग स्मृतिनगर थाना क्षेत्र के एक घर से लोकेश को पकड़ा. आरोपी के कब्जे से बिलासपुर में हुई चोरी के मामले में 12.50 लाख के माल की जब्ती की गई. आरोपी से कड़ाई से पूछताछ करने पर दिल्ली भोगल में सनसनीखेज ज्वेलरी दुकान में हुई चोरी की बात भी कबूल की. आरोपी के कब्जे से दिल्ली जंगपुरा में चोरी हुए साढ़े 18 किलों सोना और हीरे के आभूषण मिले. आरोपी ने पूछताछ में कवर्धा निवासी अपने साथी शिवा चंद्रवंशी के बारे में भी जानकारी दी. बिलासपुर पुलिस ने शिवा को गुरुवार को ही कवर्धा से गिरफ्तार किया. आरोपी के कब्जे से कवर्धा के ज्वेलरी दुकान में हुई 23 लाख की ज्वेलरी बरामद की गई. दिल्ली पुलिस भी इस मामले में बिलासपुर पुलिस के संपर्क में है. दोनों आरोपियों से पूछताछ भी की जा रही है.

शातिर है चोर: 300 CCTV खंगालने के बाद भी नहीं मिला था सुराग

चोरी का मुख्य आरोपी लोकेश श्रीवास कवर्धा का रहने वाला है. कवर्धा में पहले वह सैलून चलाया करता था और यहीं उसने अपनी पहली चोरी को अंजाम दिया था.  चोरी करने के बाद वह कई बार कवर्धा आकर अपने घर में छिपता था. लोकेश के परिवार में दो बच्चे और उनकी पत्नी हैं.  घर वाले भी उसकी चोरी करने की आदत से परेशान हैं. वहीं दूसरा आरोपी शिवा चंद्रवंशी भी कवर्धा का रहने वाला है और वह जिम चलाता था.

लोकेश को पुलिस बेहद शातिर बता रही है. 25 अगस्त को बिलासपुर की पांच दुकानों से उसने ब्रांडेड कपड़े और जुते चुराए. साथ ही लगभग 5-7 लाख पर हाथ साफ किए. लेकिन 300 सीसीटीवी खंगालने के बाद भी कोई सुराग नहीं मिल पाया था. वहीं 2019 में दुर्ग जिले के सुपेला थाना के मार्केट से 5 करोड़ की चोरी की थी. सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि वह आराम से चोरी करता था और एक घटना में तो वह दुकान में बैठक नाश्ता करता भी नजर आ रहा है.

दिल्ली के भोगल में हुई थी बड़ी चोरी की घटना

जांच से पता चला कि आभूषण नई दिल्ली के एक स्टोर से चुराए गए थे. दिल्ली में आभूषण शोरूम के मालिक महावीर प्रसाद जैन ने संवाददाताओं से कहा, "हम पुलिस के आभारी हैं। हमने बरामद वस्तुओं की तस्वीरें देखी हैं और उनकी पहचान की है क्योंकि आभूषणों पर टैग लगे हैं। हम गिरफ्तार किए गए लोगों को नहीं जानते हैं."

दिल्ली पुलिस के अनुसार, चोरी में कम से कम तीन लोग शामिल थे, जो राष्ट्रीय राजधानी में सबसे बड़ी चोरी में से एक थी. इस सप्ताह की शुरुआत में अपराधी दुकान में घुस गए, स्ट्रॉन्ग रूम में छेद कर दिया और करोड़ों रुपये से अधिक के आभूषणों के साथ-साथ 5 लाख रुपये नकद लेकर फरार हो गए.

पुलिस के अनुसार, दक्षिणी दिल्ली के भोगल में उमराव सिंह ज्वैलर्स नामक दुकान में कई सीसीटीवी कैमरे थे, लेकिन रविवार आधी रात के आसपास वे क्षतिग्रस्त हो गए. दुकान मालिक ने रविवार रात करीब 8 बजे दुकान बंद की और मंगलवार सुबह करीब 10.30 बजे दुकान खोली तो उसे घटना की जानकारी हुई. सोमवार को दुकान बंद रहती है.

आरोपी की पत्नी ने क्या कहा?

मुख्य आरोपी लोकेश की पत्नी ने बताया कि वह अपने पति की आदत से हमेशा से परेशान रही है. उन्होंने अपने पति के लिए सख्त सजा की भी मांग की. साथ ही उन्होंने उससे किसी भी तरह का रिश्ता नहीं रखने की भी बात कही. देखें वीडियो-

Loading the player...

(कवर्धा से वेदांत शर्मा, बिलासपुर से मनीष शरण और दुर्ग से रघुनंदन पंडा की रिपोर्ट)

इसे भी पढ़ें- हजार साल पुरानी दो करोड़ की मूर्तियां हुई थी चोरी, महासमुंद पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड़ा

Advertisement
छत्तीसगढ़ की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए छत्तीसगढ़ Tak पर क्लिक करें.
Tags :
Advertisement
×

.

tlbr_img1 होम tlbr_img2 वीडियो tlbr_img3 शॉर्ट्स tlbr_img4 वेब स्टोरीज