For the best experience, open
https://m.chhattisgarhtak.in
on your mobile browser.
Advertisement Whatsapp share

छत्तीसगढ़ चुनाव: ईवीएम हैक होने की आशंका! स्ट्रांग रूम की पहरेदारी में जुटे पीसीसी चीफ के चाचा

Advertisement
छत्तीसगढ़ चुनाव  ईवीएम हैक होने की आशंका  स्ट्रांग रूम की पहरेदारी में जुटे पीसीसी चीफ के चाचा
पीसीसी चीफ दीपक बैज के परिजन

Chhattisgarh Election EVM hacking Fears- छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के खत्म होने के बाद अब राजनीतिक दलों को हार-जीत की चिंता सता रही है, तो वहीं कई पार्टियों को ईवीएम हैक होने का भी डर है. इस बीच पीसीसी चीफ दीपक बैज (Deepak Baij) के चाचा स्ट्रांग रूम के सामने दिन रात पहरा दे रहें हैं.

Advertisement

बस्तर की 12 सीटों के लिए 7 नवंबर को मतदान हुआ था. इसके बाद बस्तर जिले की तीन विधानसभा सीटों की ईवीएम धरमपुरा स्थित मॉडल कॉलेज में बनाए गए स्ट्रांग रूम में रखा गया है. 8 नवंबर को सभी सीटों की मशीनें स्ट्रांग रूम में सील कर दी गई.

Advertisement सब्सक्राइब करें

सुरक्षा सख्त, मगर कका को टेंशन

यहां तीन स्तरीय सुरक्षा में सीआरपीएफ के जवान 24 घंटे निगरानी रख रहें हैं. करीब 30 जवान यहां तीन शिफ्ट में सुरक्षा दे रहे हैं. इस बीच चित्रकोट विधानसभा के प्रत्याशी और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष दीपक बैज के परिवार के लोग और चित्रकोट विधानसभा के कार्यकर्ता स्ट्रांग रूप पहरेदारी में जुटें हैं. दीपक बैज के चाचा ऋषि बैज स्ट्रांग रूम के बाहर टेंट लगाकर 24 घंटे डटे रहते है.चुनाव खत्म होते ही 9 नवंबर से वे यहां रह रहें है. उन्होंने इस वर्ष दिवाली भी टेंट में मनाई.

बैज के चाचा को किस बात का डर?

छत्तीसगढ Tak की टीम से ऋषि बैज की बात हुई तो उन्होंने कहा कि अन्य दल ईवीएम के साथ छेड़छाड़ ना कर पाए इसीलिए वे दिन-रात पहरा दे रहें है. जिले के अन्य प्रत्याशियों ने भी कलेक्टर से स्ट्रांग रूम के बाहर निगरानी के लिए बैठने की अनुमति मांगी थी,अनुमति दे भी दी गई है लेकिन फिलहाल चित्रकोट से दीपक बैज को छोड़ बाकी किसी भी प्रत्याशी के लोग स्ट्रांग रूम के बाहर नहीं दिख रहें हैं.

कॉलेज के बाहर टेंट में मौजूद दीपक बैज के चाचा ऋषि बैज ने बताया कि वे 9 तारीख से यहां पर मौजूद हैं और स्ट्रांग रूम में आने-जाने वाले 'लोगों पर नजर रख रहे हैं. उन्होंने कहा कि ईवीएम एक मशीन ही है और मशीन में छेड़छाड़ संभव है.इसी बात को ध्यान में रखते हुए वे यहां पर डटे हुए हैं.

कब तक देंगे पहरा?

बैज ने कहा कि जब तक नतीजे नहीं आते वे इसी तरह दिन-रात यहां पर मौजूद रहेंगे. उन्होंने बताया कि रात में सोने से लेकर उनका खाना-पीना सब टेट में ही हो रहा है. यहां पहरेदारी का निर्णय पार्टी कार्यकर्ता होने के नाते लिया हैं.

बता दें कि 90 विधानसभा सीटों वाले राज्य में 7 और 17 नवंबर को दो चरणों में मतदान हुआ था. नतीजे 3 दिसंबर को आएंगे. राज्य में मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा के बीच है.

इसे भी पढ़ें- Chhattisgarh Election: बस्तर में चल गया BJP का दांव? जानें 12 सीटों पर क्या है कांग्रेस का हाल

Advertisement
छत्तीसगढ़ की लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहने के लिए छत्तीसगढ़ Tak पर क्लिक करें.
Tags :
Advertisement
×

.

tlbr_img1 होम tlbr_img2 वीडियो tlbr_img3 शॉर्ट्स tlbr_img4 वेब स्टोरीज